यूनिवर्सिटीओं की भर्ती अब होगी आयोग के माध्यम से V C का भी रहेगा रोल


इस न्यूज अपडेट को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें

हरियाणा के विश्वविद्यालयों में भर्तियों के अधिकार हरियाणा लोक सेवा आयोग हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग को दिए जाने पर बखेड़ा खड़ा हो गया है इस फैसले को यूजीपी की गाइडलाइन हो यूनिवर्सिटी की स्वायत्तता के खिलाफ माना जा रहा है| विपक्ष ने इस मुद्दे पर सरकार को विधानसभा के अंदर और बाहर घेरने की रणनीति बनानी शुरू कर दी है |

इस फैसले को लेकर हो रहे विवाद के बीच सरकार ने स्पष्ट किया है कि इसे यूनिवर्सिटी की स्वायत्तता पर कोई असर नहीं पड़ेगा अलबत्ता यूनिवर्सिटी में होने वाली भर्तियों में और भी पारदर्शिता आएगी |दरअसल अब सरकार ने तय किया है कि यूनिवर्सिटी में क्लास 3 से लेकर असिस्टेंट प्रोफेसर की भर्ती प्रक्रिया HPSC  और HSSC के माध्यम से पूरी होगी क्लास थ्री  की भर्ती में कर्मचारी चयन आयोग तथा क्लास वन और टू की भर्तियों में HPSC  का दखल रहेगा| 

सरकार ने इसके लिए तय की गई शब्दों में स्पष्ट किया है कि यूनिवर्सिटी में भर्ती के लिए सिलेक्शन कमेटी गठित होगी| अहम बात यह है कि इस कमेटी के चेयरमैन का जिम्मा संबंधित यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर के पास रहेगा अगर भर्ती क्लास वन हौर क्लास 2 के पदों के लिए हरियाणा लोक सेवा आयोग के 2 सदस्य इस कमेटी में शामिल होंगे |वही क्लास 3 की भर्तियों में हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के 2 सदस्य कमेटी में शामिल होंगे| 

इस कमेटी में एक एक्सपर्ट को बतौर सदस्य शामिल किया जाएगा वहीं यूनिवर्सिटी का एक और प्रतिनिधि 2 सदस्य कमेटी में शामिल रहेगा | नौकरियों के लिए होने वाली लिखित परीक्षा हरियाणा लोक सेवा आयोग हरियाणा कर्मचारी आयोग द्वारा की जाएगी |

लिखित परीक्षा के नतीजे आने के बाद होने वाले इंटरव्यू की प्रक्रिया संबंधित यूनिवर्सिटी प्रशासन द्वारा ही पूरी की जाएगी यह बता दे कि केंद्र सरकार  द्वारा जारी की गई नई शिक्षा नीति 2020 में को स्वायत्तता की बात कही गई है


इस न्यूज अपडेट को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें



Leave a Comment

close

Ad Blocker Detected!

Please disable adblocker to continue using our website. We provide the latest job updates and information free of cost. We get some revenue through ads that help us to provide these services at free of cost.

Refresh