लाखों लोगों को मिलेगा रोजगार


इस न्यूज अपडेट को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 25 नवंबर को देश के सबसे बड़े एयरपोर्ट नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का शिलान्यास करने जा रहे हैं. इस दौरान पीएम मोदी के साथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहेंगे.

दिल्ली- एनसीआर व इसके साथ लगते क्षेत्र में रोजगार की दृष्टि से देखा जाए तो इस एयरपोर्ट के शुरू होने से सीधे एक लाख लोगों को रोजगार मिलने की उम्मीद जताई गई है. वहीं करीब 6 लाख लोगों को अप्रत्यक्ष तौर पर रोजगार की संभावना व्यक्त की जा रही है.

एयरपोर्ट पर यात्रियों की संख्या उम्मीद से अधिक रही तो उससे भी रोजगार के कई अवसर पैदा होंगे. एयरपोर्ट बनने से यह क्षेत्र रोजगार का बड़ा केंद्र साबित होगा. नोएडा एयरपोर्ट निर्माण से हरियाणा, यूपी, दिल्ली आदि राज्यों में विकास के नये आयाम स्थापित होंगे.

25 नवंबर को नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का शिलान्यास कर लाखों लोगों के सपने को धरातल पर उतरने की शुरुआत करेंगे. इसके साथ ही गौतम बुद्ध नगर का जेवर क्षेत्र अंतरराष्ट्रीय पटल पर अंकित हो जाएगा.

Untitled design 49

एयरपोर्ट बनने से लाखों लोगों को सफर करने में सुविधा रहेगी तो वहीं व्यापार की दृष्टि से भी यह एयरपोर्ट महत्वपूर्ण भूमिका अदा करेगा. इस एयरपोर्ट के शुरू होने से दिल्ली स्थित इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर भी लोड कम होगा

एयरपोर्ट शिलान्यास की तारीख तय होते हीं प्रशासन ने भी अपनी तैयारियां शुरू कर दी है. पीएम नरेंद्र मोदी की जनसभा एवं शिलान्यास के लिए जगह चिह्नित करने के लिए स्थानीय विधायक , पुलिस आयुक्त आलोक सिंह व जिलाधिकारी सुहास एलवाई सहित कई अन्य अधिकारियों ने जेवर क्षेत्र पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया. अधिकारियों ने पूरे निरीक्षण के बाद दो जगहों का चयन किया है जिनमें से एक को फाइनल कर शासन को कार्य योजना भेज दी जाएगी.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के 2024 तक अंतरराष्ट्रीय वायु यातायात के नेटवर्क का हिस्सा बन जाने की पूरी उम्मीद है. अगले तीन साल में एयरपोर्ट के साथ जेवर क्षेत्र को सड़क,रेल व मेट्रो नेटवर्क की दृष्टि से भी मजबूत किया जाएगा.


इस न्यूज अपडेट को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें



Leave a Comment

close

Ad Blocker Detected!

Please disable adblocker to continue using our website. We provide the latest job updates and information free of cost. We get some revenue through ads that help us to provide these services at free of cost.

Refresh