हरियाणा में ड्रोन से होगा खाद का स्प्रे,


इस न्यूज अपडेट को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें

हरियाणा में ड्रोन से होगा खाद का स्प्रे, कृषि उत्पादन को बेहतर बनाने के लिए रोज नए-2 आविष्कार हो रहें हैं. अब देश में पहली बार खेतों में खड़ी फसलों पर ड्रोन से खाद का छिड़काव किया जाएगा और इसकी शुरुआत हरियाणा के करनाल जिले से हो रही है. इस ड्रोन की मदद से इफको द्वारा निर्मित तरल उर्वरक नैनों यूरिया का छिड़काव किया जा सकेगा. एक एकड़ में स्प्रे करने के लिए यह ड्रोन सिर्फ 10 मिनट लेगा. इस ड्रोन से एक स्थान पर बैठकर पांच किलोमीटर तक के क्षेत्र में स्थित खेतों पर खाद का स्प्रे किया जा सकता है. ड्रोन यदि ऑटोमैटिक मोड में है तो जितना रकबा उसमें सेट किया जाएगा ,उतने रकबे में स्प्रे करके वापस लौट आयेगा.

Untitled design 11
Farming:- Drone will spray fertilizer in Haryana,

हरियाणा में ड्रोन से होगा खाद का स्प्रे, ड्रोन के माध्यम से स्प्रे करने पर सिर्फ 200 रुपए प्रति एकड़ का खर्च आएगा. उन्होंने कहा कि इफको द्वारा निर्मित तरल उर्वरक नैनों यूरिया किसानों द्वारा बेहद पसंद किया जा रहा है. ड्रोन को कोई किसान या संस्था लेगी तो इफको इसके लिए लोन दिलाने , कागजात तैयार करवाने आदि में पूरी सहायता करेगी. ड्रोन को खरीदने के लिए करीब साढ़े सात लाख रुपए खर्च करने होंगे.

किसानों को फायदा  गन्ना, बाग, सरसों आदि उन फसलों में होगा, जो ऊंची हैं या फिर जिनमें घुसने से फसलों को नुकसान पहुंचने की संभावना रहती है. 8000 RPM वाला ड्रोन पत्तियों से लेकर तनों तक पेड़ को बिना किसी गैप के तर-बतर कर देगा. खास बात यह है कि 100 एकड़ तक के खेत को भी एक बार में स्कैन करके इसमें लगा कैमरा फोटो भी तैयार करेगा.

ड्रोन की एक खासियत और है कि पानी खत्म होने पर स्वयं वापस आएगा, पानी लेकर फिर जाकर उसी जगह से ड्रोन स्प्रे करेगा. ड्रोन न खेत में कही जगह छोड़ेगा और न ही कही दोबारा छिड़काव करेगा. ड्रोन में सेंसर लगा है जिसकी मदद से रास्ते में बिजली का पोल या पेड़ आदि आने पर स्वयं ही उससे बचकर निकल जाएगा. साथ ही फोटो में किसान यह देख सकेगा कि पूरे खेत में किस जगह पर बीमारी या कीड़ा आदि लगा है.


इस न्यूज अपडेट को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें



Leave a Comment

close

Ad Blocker Detected!

Please disable adblocker to continue using our website. We provide the latest job updates and information free of cost. We get some revenue through ads that help us to provide these services at free of cost.

Refresh