भर्तियों में फर्जीवाड़ा – नए कानून से होगी कारवाई


इस न्यूज अपडेट को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें

फर्जीवाड़ा करने वालों को किसी भी स्तर पर बख्शा नहीं जाएगा, भ्रष्टाचार सहन नहीं होगा

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने शुक्रवार को रेवाड़ी में बावल में प्रगति रैली को संबोधित किया या उन्होंने 223 एकड़ की योजनाओं की उद्घाटन व शिलान्यास किया मुख्यमंत्री ने जल्द ही माजरा में बनने वाले  AIIMS की आधारशिला  रखने की बात भी कही मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकारी भर्तियों में पारदर्शिता हमारी प्राथमिकता थी और रहेगी फर्जीवाड़ा करने वालों को किसी भी स्तर पर बख्शा नहीं जाएगा भ्रष्टाचार  सहन नहीं होगा  कांग्रेसमें उसके पूर्व की सरकारों में भर्तियां खर्ची पर्ची के आधार पर होती थी जिस कारण एक मुख्यमंत्री को जेल जाना पड़ा और दूसरे के कार्यकाल में भी कई भर्तियों को कोर्ट ने रद्द किया जबकि 7 साल में हमारी एक भी भर्ती कोर्ट में रद्द नहीं की बल्कि फर्जीवाड़ा करने वाले 44 लोगों को पकड़ा जिसमें एक कुल सचिव सत्र का एचसीएस अधिकारी भी शामिल है

WhatsApp Image 2021 11 27 at 6.43.29 AM

नए कानून से होगी करवाई

हरियाणा में नौकरियों के फर्जीवाड़े में पकड़े गए तीन आरोपियों के साथ उन लोगों पर भी गाज गिरने वाली है जिन्होंने नौकरी के लिए पैसे दिए हैं इस हाईप्रोफाइल मामले में हरियाणा में पहली बार भ्रष्टाचार अधिनियम के साथ-साथ 3 माह पहले बना लोक सेवा आयोग परीक्षा अधिनियम के तहत केस दर्ज किया गया हैइस कानून के लगने से न केवल पकड़े गए एचपीएस अनिल नागर अश्वनी शर्मा और नवीन की दिखते बढ़ेगी बल्कि उन युवाओं के लिए भी यह कानून खतरा बढ़ गया जिन्होंने परीक्षा के लिए पैसे दिए थे

WhatsApp Image 2021 11 27 at 6.43.45 AM

पिछले कुछ सालों से हरियाणा में लगातार हुए पेपर लीक मामले को रोकने के लिए 3 माह पहले हरियाणा ने नया कानून बनाया है विधानसभा में पारित होने पर राज्यपाल की मंजूरी के बाद 10 सितंबर को यह लागू हो गया है इस फर्जीवाड़े में पीसी एक्ट के साथ-साथ नकल विरोधी कानून भी लगाया गया है ऐसे में उन युवाओं की परेशानी बढ़ने वाली है जिन्होंने डेंटल सर्जन एचपीएस जैसे परीक्षा में पैसे देकर पास हुए हैं विजिलेंस ब्यूरो दस्तावेज और रोल नंबर के हिसाब से ऐसे युवाओं की सूची तैयार कर रहा है जल्द ही विजिलेंस ने पूछताछ में शामिल करने की तैयारी में है

पुराने तार खंगालएगी विजिलेंस

मुख्यमंत्री  मनोहर लाल ने सरकारी नौकरियों में पारदर्शिता और शुचिता बनाए रखने के लिए अपने संकल्प को पूरा करने के लिए विजिलेंस  तथा सीआईडी को  फ्री हेड दे दिया है मुख्यमंत्री ने सीआईडी और विजिलेंस के उच्च अधिकारियों को बुलाकर उन्हें स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि सरकारी नौकरियों की पवित्रता भंग करने वाले किसी भी व्यक्ति के प्रति किसी तरह की रियायत  न बरती जाए

अनिल नागर की एचपीएससी के उप सचिव पद पर इसी साल फरवरी में तैनाती हुई

मुख्यमंत्री की हरी झंडी मिलने के बाद अब विजिलेंस ने हरियाणा लोक सेवा आयोग में अब तक हुए नियुक्तियों की तह में जाने का रोड मैप तैयार किया है 2016 बैच के एचपीएस अधिकारी अनिल नागर की गिरफ्तारी के बाद विजिलेंस ब्यूरो वैरायटी अफसरों को लगता है कि प्रथम व द्वितीय श्रेणी पीएचपीएस की भर्तियों में गड़बड़ी के तार काफी पुराने हो सकते हैं इसकी अहम वजह यह है कि अनिल नागर की एचपीएससी के उप सचिव पद पर इसी साल फरवरी में तैनाती हुई थी

WhatsApp Image 2021 11 27 at 6.44.55 AM

इससे पहले हरियाणा विद्यालय बोर्ड भिवानी में तैनात रहा है विजिलेंस सीआईडी का मानना है कि फरवरी से लेकर नवंबर तक 9 माह में अनिल नागर भर्तियों में गड़बड़ी के लंबे तार नहीं  जोड़ सका इसमें अन्य लोगों की भी शामिल होने की आशंका है विजिलेंस ब्यूरो के महानिदेशक सतरूजित कपूर और सीआईडी प्रमुख आलोक मित्तल ने सीएम को डेंटल सर्जन की लिखित परीक्षा के अभ्यर्थियों के अंकों में हेराफेरी करने के आरोपी अनिल नागर समेत तीन आरोपियों की पूरी कुंडली सौंप दी है पुलिस ने इस केस में भिवानी निवासी नवीन और झज्जर के अश्वनी को भी गिरफ्तार किया है

Important Links

Join Our Telegram GroupClick Here
Join Our WhatsApp Group Click Here
Join Our Facebook GroupClick Here
Subscribe to Our YouTube ChannelClick Here



इस न्यूज अपडेट को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें



Leave a Comment

close

Ad Blocker Detected!

Please disable adblocker to continue using our website. We provide the latest job updates and information free of cost. We get some revenue through ads that help us to provide these services at free of cost.

Refresh